गतिविधियाँ
 
राजस्थान साहित्य एकादमी : लघुक
 
   
     
 
  सम्पर्क  
सुकेश साहनी
[email protected]
रामेश्वर काम्बोज 'हिमांशु'
[email protected]

 
 
 
चर्चा में
 
 
कादम्बिनी लघुकथा प्रतियोगिता-2007 के विजेता रचनाकारों को पुरस्कृत किया गया है। देश भर से बड़ी संख्या में रचनाकारों ने इस प्रतियोगिता में भाग लिया था जिसमें कोलकाता के अभिज्ञात, मुंबई के हरि मृदुल और उत्तराखंड के उधमसिंह नगर जिले के रुद्रपुर के कस्तूरीलाल तागरा को उनकी तीन-तीन लघुकथाओं के लिए पुरस्कृत किया गया। पत्रिका की प्रधान सम्पादक मृणाल पाण्डे व कार्यकारी सम्पादक विष्णु नागर की ओर से विजेताओं को प्रशस्ति पत्र तथा पांच-पांच हजार रुपये की समान राशि प्रदान की गयी। इस प्रतियोगिता में निर्णायक थे प्रतिष्ठित व वरिष्ठ कथाकार रमेश उपाध्याय, मैत्रेयी पुष्पा एवं संजीव।
अभिज्ञात के अब तक एक अदहन हमारे अन्दर, भग्न नीड़ के आर पार, आवारा हवाओं के खिलाफ़ चुपचाप, वह हथेली, दी हुई नींद कविता संग्रह तथा लघु उपन्यास अनचाहे दरवाज़े पर प्रकाशित हैं। पत्र-पत्रिकाओं में कहानियां और आलोचनात्मक टिप्पणियां प्रकाशित होती रही हैं। इसके पूर्व उन्हें आकांक्षा संस्कृति सम्मान मिल चुका है। हरि मृदुल का कविता संग्रह सफेदी में छुपा काला प्रकाशित है। पत्रिकाओं में कहानियां भी प्रकाशित हुई हैं। वे कुमाऊँनी में भी कविताएं-गीत लिखते हैं। हेमंत स्मृति कविता सम्मान-2007 उन्हें मिला है जबकि कस्तूरीलाल तागरा लम्बे अरसे से कविताएं व लघुकथाएँ लिखते रह हैं जो पत्र-पत्रिकाओं में प्रकाशित हुई हैं।
 

 
Developed & Designed :- HANS INDIA
Best view in Internet explorer V.5 and above